AB De Villiers

AB De Villiers

 

AB De Villiers का पूरा नाम Abraham Benjamin De Villiers है, इनका जन्म 17 फरवरी 1984 को Pretoria, South Africa में हुआ था, जो की former South African international cricketer हैं, AB South Africa की National Team और Domestic Cricket में Titans के लिए खेल चुके है। उन्होंने 23 मई 2018 को Cricket के सभी Formats से संन्यास लेने का फैसला किया। उन्हें विश्व क्रिकेट में हमेशा महानतम बल्लेबाजों में से एक माना जाता है। De Villiers के पास कई बल्लेबाजी रिकॉर्ड हैं, जिनमें विश्व के सबसे तेज़ One Day International (ODI) 50, 100 और 150, South African द्वारा सबसे तेज टेस्ट शतक और South African द्वारा सबसे तेज़ Twenty20 International (T20I) 50 शामिल हैं। De Villiers Indian Premier League (IPL) में  Royal Challengers Bangalore के लिए भी खेल चुके है।

 

उन्होंने Wicket-Keeper/Batsman (Mid-Career में कुछ सालों तक भूमिका में लौटने) के रूप में अपना International Career शुरू किया, लेकिन अक्सर बल्लेबाज के रूप में पूरी तरह से खेलते देखे जाते थे। वह Batting Order में Various Positions पर Bat कर चुके है लेकिन मुख्य रूप से Middle-Order में। Modern Game में Most Innovative Batsmen में से एक के रूप में जाना जाता है, De Villiers wicket-keeper और slips के पीछे कई Unorthodox Shots के लिए प्रसिद्ध हैं, जिसने उन्हें Mr. 360 का Nickname Earn कराया। उन्होंने 2004 में England के खिलाफ एक Test Match में अपना international Debut किया और 2005 के शुरू में पहली बार ODI खेला। 2006 में T-20 International Cricket में उनकी शुरुआत हुई। 2016 तक, उन्होंने Test और ODI Cricket दोनों में 8,000 रन पार कर लिए हैं और खेल के दोनों forms में पचास से अधिक की बल्लेबाजी औसत है। De Villiers ने सभी Formats में South Africa की कप्तानी संभाली है , लेकिन उनकी चोटों के बाद, वह Test captaincy को अलविदा कह दिया और टीम में अपना अहम् योगदान देते रहे। हालांकि, 2017 ICC Champions Trophy और England Series में हार के साथ, उन्होंने सीमीत ओवरों से भी कप्तानी छोडने का फैसला ले लिया और टीम के साथ बने रहे। 23 मई 2018 को, उन्होंने घोषणा की कि वह International Cricket के सभी Formats से संन्यास ले रहे हैं लेकिन Domestic Cricket खेलने के लिए उपलब्ध हो सकते हैं।

 

Early life

 

Abraham Benjamin de Villiers का जन्म South Africa के Bela-Bela में हुआ था, और उन्होंने बाद में “Really में आराम से lifestyle” के रूप में discribe किया, जहां हर कोई हर किसी को जानता है “। वह Pretoria में high school में टीम के ही साथी Faf du Plessis के साथ गए। उन्होंने प्रतिष्ठित Afrikaanse Hoër Seunskool में भाग लिया। AB weekends के लिए घर लौट आये। उनके पिता एक Doctor थे जिन्होंने अपने जवानी में rugby union खेला था, और उन्होंने अपने बेटे को खेल खेलने के लिए प्रोत्साहित किया;एक बच्चे के रूप में, De Villiers ने अपने घर पर Cricket खेला। उनकी autobiography September 2016 में प्रकाशित हुई थी। Cricket के अलावा, De Villiers ने भी जवानी में golf, rugby और tennis में श्रेष्ठता हासिल की।


Overall Career

 

De Villiers एक right-handed batsman हैं, जिन्होंने 22 शतक और 46 अर्धशतक सहित टेस्ट में 8,000 से अधिक रन बनाये हैं। नवंबर 2008 में बांग्लादेश के खिलाफ 0 पर Out होने से पहले, वह सबसे अधिक Test innings खेलने वाले दुनिया के एकलौते Batsman थे जो अब तक अपनी एक भी पारी (78) में 0 पर नहीं  Out हुए थे। वह South Africa के दूसरे बल्लेबाज है, जिसके द्वारा सबसे ज्यादा व्यक्तिगत स्कोर 278 (नाबाद) है। 2012 तक वह South Africa के लिए कभी-कभी wicket-keeping करते थे, हालांकि regular Test keeper Mark Boucher के retirement के बाद और अपनी कप्तानी के तहत उन्होंने regularly Tests, ODI और T-20 में South Africa Team के लिए wicket-keeping करी।उन्होंने 2015 में wicket-keeping छोड़ दिया और दस्ताने को Quinton de Kock को सौंप दिया। वह किसी भी batsmen द्वारा One Day International में सबसे तेज़ 50 (16 गेंद), 100 (31 गेंद) और 150 (64 गेंद) के लिए Record रखता है, और South African द्वारा Test में सबसे तेज शतक का भी Record रखता है ओर T-20 में South African Batsman द्वारा सबसे तेज 50 का भी  Record है। वह three-time ICC ODI player of the year हैं, जिन्होंने 2010, 2014 और 2015 में ये ख़िताब अपने नाम किया। वह 2011 Cricket World Cup के बाद Graeme Smith के ODI उत्तराधिकारी बने और Test कप्तान के लिए South Africa series में England के दूसरे Test के बाद कप्तान हाशिम अमला के लिए उत्तराधिकारी बने। वह दिसंबर 2016 में एक कोहनी की चोट के कारण टेस्ट कप्तान के सिंघासन से नीचे उतर गए, जिसने उन्हें लंबे समय तक टीम से बाहर रखा।

 

International career

Early days

 

Graeme Pollock के बाद 1,000 Test Run तक पहुंचने वाले De Villiers second-youngest और second-fastest South African Player बने। अपने Test career में अभी तक बल्लेबाजी, गेंदबाजी और wicketkeeping करी है। South Africa U19 team में एक spell के बाद, उन्होंने 2003/4 में Titans के लिए अपनी शुरुआत की। उन्होंने Port Elizabeth में England के खिलाफ 16 दिसंबर 2004 को 20 साल की उम्र में अपना Test debut किया। उन्होंने impressive opening बल्लेबाजी की, लेकिन दूसरे टेस्ट के लिए order गिरा दिया गया और wicket-keeping gloves भी दिए। इस मैच में, उन्होंने सातवें नंबर पर आकर एक अर्धशतक बनाया। हालांकि, उन्होंने series के final Test के लिए फिर से order के शीर्ष पर खुद को पाया और वहां अपनी Test innings में से ज्यादातर का प्रदर्शन किया है। Caribbean के अच्छे tour के बावजूद उन्होंने South Africa को Test series जीतने में मदद करने के लिए 178 रन बनाए, उनकी तीव्र प्रगति 2005 में Australia के tour पर रुक गई थी। Shane Warne को अच्छी तरह से खेलने के बावजूद, उन्होंने संघर्ष किया और 6 पारियों में केवल 152 रन बनाए। ODI मैचों में Jonty Rhodes के समान ही इस्तेमाल किया गया, उन्होंने पारी की opening की हालांकि वह वर्तमान में मध्य क्रम में बल्लेबाजी कर रहे थे। De Villiers ने selectors को 2006 के शीतकालीन श्रृंखला में शामिल करने का एक संकेत, भारत के खिलाफ 98 गेंदों में 12 चौके और एक छक्का लगाकर 92 रनों के अपने उच्चतम एक दिवसीय स्कोर बनाकर दिया। 2006 में Australia के Simon Katich के diving run-out द्वारा De Villiers को एक बेहतरीन fielder के रूप में प्रतिष्ठा मिली, जब उसने गेंद को रोकने के लिए डाइव किया, और स्टंप से दूर अपने पेट के बल लेते हुए, उसने गेंद को अपने कंधे पर पीछे फेंक दिया और सीधे हिट को प्रभावित किया। लोगों ने De Villiers की तुलना Jonty Rhodes से करना शुरू कर दिया, जो उनकी पीढ़ी के बेहतरीन fielders में से एक थे। wicketkeepers के अलावा उनकी fielding positions पहली और दूसरी slip और cover है। 2009 में, उन्हें वर्ष के ICC Cricketer और वर्ष के ICC Test Player के लिए nominated किया गया था। 6 जून 2011 को, South Africa के coach Gary Kirsten ने घोषणा की कि AB de Villiers South Africa के नए सीमित ओवरों के कप्तान होंगे। De Villiers ने कहा, “मैं बहुत उत्साहित हूं लेकिन मैं भी अनुभवहीन हूं। लेकिन मैंने अविश्वसनीय कप्तान से पिछले सात सालों में बहुत कुछ सीखा है,” De Villiers ने कहा, जिन्होंने कभी प्रथम श्रेणी के स्तर पर एक टीम का नेतृत्व नहीं किया था। “यह एक बड़ी ज़िम्मेदारी है, लेकिन पहलू में एक नया रूप होगा, जो अच्छा है।”

 

2007 Cricket World Cup

 

2007 Cricket World Cup में competition खेलते हुए, AB ODI career के best form में थे AB ने South Africa की तरफ से खेलते हुए India/Pakistan के खिलाफ चार हाफ सेंचुरी बनाई। Tournament के शुरुआती चरणों में AB का form विफलताओं के साथ शुरू हुआ और Netherlands के खिलाफ मैच में 0 पर OUT होने के बाद AB का गेम 3 मैच में खराब था, जहां उनकी टीम ने बल्लेबाजी के लिए विभिन्न रिकॉर्ड तोड़ दिए, हालांकि उन्होंने Australia के खिलाफ पहले दौर में 92 रन बनाए। उन्होंने 10 अप्रैल 2007 को West Indies के खिलाफ Super 8 game में अपना पहला शतक सिर्फ 130 गेंदों में 9 छक्के और 12 चौके लगाकर 146 रन बनाये। उन्हें अपनी पारी के बाद की स्थिति के लिए एक runner के साथ बल्लेबाजी करनी पड़ी और उन्होंने हर शॉट को painful, गर्मी थकावट और dehydration के combination के कारण दर्दनाक पाया। उनकी पारी में Jacques Kallis के साथ 170 रन की दूसरी विकेट की साझेदारी और Herschelle Gibbs के साथ 70 रन की तीसरी विकेट की साझेदारी शामिल थी। De Villiers की पारी ने 50 ओवरों में कुल 356/4 रन बनाने में मदद की। World Cup के दौरान उनकी बल्लेबाजी अनुचित थी क्योंकि वह 4 अवसरों पर खुद को record कायम करने में नाकाम रहे।

 

Gaining attention

 

4 अप्रैल 2008 को, De Villiers 217 के top score के साथ भारत के खिलाफ double century लगाने वाले first South African बने। De Villiers ने 174 रन बनाये जिसने जुलाई 2008 में England के खिलाफ Headingley Carnegie में दूसरे टेस्ट में South Africa के लिए Leeds में दस विकेट से जीत दर्ज की गई। इसके बाद वह Oval में 97 रन बनाकर विकेट से उतरकर Monty Panesar को boundary पर OUT करने की कोशिश कर रहा था और catch पकड़ लिया गया था। Perth में first Test में, De Villiers ने match-winning century से South Africa की second-highest-ever fourth innings का 414 रनों का लक्ष्य छह विकेट से हराया। Australia में 15 वर्षों में यह South Africa की first Test victory थी और ऑस्ट्रेलियाई प्रभुत्व के एक दशक से अधिक समय बाद world cricket के संतुलन की शक्ति को झुकाव के लिए एक लंबा रास्ता तय करना था। De Villiers ने मैच के दौरान four diving catches भी ले लिए, backward point पर एक गजब की कैच  Jason Krejza की भी शामिल है। De Villiers ने Melbourne Cricket Ground में second Test में केवल 11 रन बनाए और Sydney Cricket Ground में final Test की first innings में एक और कम स्कोर बनाया। हालांकि, उस टेस्ट की दूसरी पारी में, De Villiers ने एक सहनशील half-century बनाई क्योंकि South Africa ने लगभग एक-दूसरे को draw के लिए आमंत्रित किया था। ODI Series के दौरान, Adelaide में चौथे ODI में, Boucher के बाहर निकलने के बाद उन्होंने विकेटकीपर के रूप में खेला। इसके बाद उन्होंने 85 गेंदों में 82 रन बनाकर 6 चौके और एक छक्का लगाकर series जीत ली और उन्हें man of the match का ख़िताब नवाजा गया। Wanderers Stadium में return series के पहले टेस्ट में, De Villiers ने pace bowler, Mitchell Johnson के नेतृत्व में bowling attack के खिलाफ first inning में एकमात्र Batsman थे जिसने 185 गेंदों पर 9 चौके और 1 छक्के के साथ 104 * रन बनाये जबकि उनकी टीम के सभी साथी 50 रनो से भी कम रनो पर ढेर हो गए। लेकिन दूसरी पारी में, उन्होंने केवल 7 रन बनाये। third test में, Ashwell Prince और Jacques Kallis के शतकों के बाद, De Villiers ने पारी का तीसरा शतक बनाया जो की 196 गेंदों पर 12 चौके और 7 छक्के लगाकर 163 रन बनाये। De Villiers ने इस knock की मदद से एक McDonald over में सबसे ज्यादा छक्के लगाने के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली De Villiers ने लगातार चार छक्के लगाए। इस 5 मैच के ODI series में, De Villiers लगातार खेल रहे थे, हालांकि पहले गेम में बुरी तरह से शुरुआत करते हुए, केवल 2 रन बनाये। लेकिन, एक अच्छी वापसी करते हुए उन्होंने 36 *, 80, 84 और 38 रन बनाये और मैच 5 के समापन पर उन्हें Player of the Series का नाम दिया गया। उन्हें Zimbabwe के खिलाफ दो मैचों की T-20 series के लिए reste दिया गया था और क्योंकि Mark Boucher injured हो गए थे, तो साथ ही Heino Kuhn को दस्ताने दिए गए थे। De Villiers ODI series के लिए लौट आए और gloves भी ले लिया और उस वक़्त तक मार्क बाउचर ठीक ही हो रहे थे। उन्होंने जिम्बाब्वे के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करते हुए तीन ODI में दो centuries बनाई और South Africa को तीन मैचों की series 3-0 से आसानी से जीती। उनकी बड़ी चुनौती पाकिस्तान के खिलाफ 2 T-20 मैचों के लिए आई, जहां उन्हें wicketkeeping भी दी गयी। first match में, वह Shoaib Akhtar द्वारा superb delivery से दूसरे गेंद पर ही 0 रन पर OUT हो गए। दूसरे T20 में उन्होंने 11 रन बनाए। इसके बाद उन्होंने पांच मैचों की ODI series में भाग लिया जहां South Africa 203 रनों का पीछा कर रहा था और AB 51 रन बनाने के बाद Saeed Ajmal को एक कैच दे दिया। second ODI में उन्होंने 29 रन बनाए और shahid afridi ने उन्हें Bowled किया; उसी मैच में, Abdul Razzaq ने अपने जीवन की सबसे बड़ी पारी खेली और पाकिस्तान को अविश्वसनीय जीत दिलाई। third match के दौरान, उन्होंने Zulqarnain Haider द्वारा स्टंप किए जाने से पहले 19 रन बनाए। यह umpire द्वारा गलती हुई क्योंकि उसने गलत बटन दबाया था। fourth match में, वह अर्धशतक से चूक गए और 49 रन पर उन्होंने मैदान पर fielder को अपना विकेट दिया। series में उनका अच्छा फॉर्म तब जारी रहा जब उन्होंने final ODI में 61 रन बनाये और South Africa मैच 57 रन और श्रृंखला 3-2 से जीत गया।

 

2011 Cricket World Cup

 

AB de Villiers ने 2011 World Cup में दो लगातार शतक बनाए। वह एक World Cup में दो शतक बनाने वाले पहले South African बने और Mark Waugh, Saeed Anwar, Rahul Dravid और Matthew Hayden के बाद पांचवें बल्लेबाज़ बने जिसने एक World Cup tournament में लगातार दो शतक बनाये। वह एक World Cup tournament में दो या दो से अधिक शतक बनाने वाले 16 वें बल्लेबाज भी बने। South Africa के बल्लेबाजों में AB de Villiers की 136.73 की स्ट्राइक रेट सबसे ज्यादा है, जिन्होंने World Cup matches में शतक बनाए हैं। World Cup में अपने third player of the match award के साथ, De Villiers South African players की सूची में Jacques Kallis के साथ World Cup में सबसे अधिक match awards जीतने के साथ संयुक्त दूसरे स्थान पर हैं। Lance Klusener पांच awards के साथ सूची में प्रथम पर हैं।

 

Rising through the ranks

 

2011-12 की South African summer में, De Villiers को Australia और Sri Lanka के खिलाफ home series में शामिल किया। बाद में, उन्होंने series के तीसरे और निर्णायक test में South Africa की जीत में शतक (160 नाबाद) बनाया। उन्हें Player of the Series का ख़िताब दिया गया, जिसने 117.66 के औसत से 353 रन बनाए। इसके बाद उन्होंने One Day International team के कप्तान नियुक्त होने के बाद से अपनी पहली series के लिए South Africa का नेतृत्व किया। कप्तान के रूप में अपने पहले मैच में, South Africa ने 11 जनवरी 2012 को Paarl में 258 रन से जीत के साथ Sri Lanka के इतिहास की सबसे भारी हार दर्ज करवाई। यह दो Test-playing teams के बीच एक ODI match में जीत (रनों द्वारा) का सबसे बड़ा margin भी था। South Africa Team ODI series जीतने के लिए आगे बढ़ी, और De Villiers को series का player of the series चुना गया, जिन्होंने Johannesburg में fifth और final match में शतक (125 नाबाद) सहित 109.66 के औसत से 329 रन बनाए। 10 जुलाई को, Mark Boucher ने bail hit से चोट लगने के बाद cricket से संन्यास की घोषणा के बाद De Villiers को full-time wicketkeeping duties को सौंप दिया गया। 4 फरवरी 2013 को, De Villiers ने Jack Russell के मैच में 11 dismissals के रिकॉर्ड की बराबरी  कर ली। उन्होंने उसी मैच में South Africa की दूसरी पारी में 117 गेंदों पर नाबाद 103 रन बनाए। इस process में, वह शतक बनाने वाले first wicketkeeper बने और टेस्ट में 10 dismissals भी किये। 18 मार्च को, Johannesburg में South Africa के Pakistan के दौरे के third ODI match के दौरान, De Villiers और Hashim Amla ने 238 रन बनाकर ODI में तीसरी विकेट की साझेदारी के लिए रिकॉर्ड साझेदारी बनाई। De Villiers ने 12 चौके और 3 छक्के की मदद से कुल 128 रन बनाये।

 

Record-breaking year

 

18 जनवरी 2015 को, De Villiers ने 31 गेंदों पर One Day International cricket में किसी भी बल्लेबाज द्वारा fastest century बनाया और अंत में West Indies के खिलाफ 59.5 मिनट में 44 गेंदों पर 149 रन बनाये

 

2015 World Cup

 

2015 Cricket World Cup में De Villiers 96.0 के औसत से 482 रन और टूर्नामेंट के दौरान 144.0 की स्ट्राइक रेट में शीर्ष प्रदर्शन करने वालों में से एक थे। 27 फरवरी 2015 को, De Villiers ने 2015 Cricket World Cup के Pool B में West Indies के खिलाफ एक मैच में 66 गेंदों पर 162 रन बनाए; world cup History में South Africa ने Sydney Cricket Ground पर ODI Cricket में अपने दूसरे सबसे ज्यादा कुल (408) रन बनाये। इस उपलब्धि के साथ, वह One-Day International history में सबसे तेज़ 50, 100 और 150 रन बनाकर रिकॉर्ड बनया। De Villiers की कप्तानी के तहत, South Africa World Cup के semi-finals में qualified कर गया था लेकिन semi-finals मैच में New Zealand से हार गया। De Villiers ने Martin Guptill और Kumar Sangakkara के बाद 482 रनों के साथ तीसरे सबसे ज्यादा run-getter के रूप में tournament समाप्त किया। tournament के अंत में, उन्हें One-day International cricket में ICC batsmen की rating में नंबर 1 और Test cricket में ICC batsmen की rating में नंबर 3 पर स्थान मिला।

 

2016–2018 and retirement

 

6 जनवरी 2016 को, England और South Africa के बीच second test match ड्रॉ में समाप्त हुआ। मैच के अंत के बाद, Hashim Amla ने कप्तानी से इस्तीफा दे दिया और de Villiers को आखरी दो मैचों के लिए दक्षिण अफ्रीका के कप्तान के लिए चुना गया था। 21 फरवरी 2016 को, de Villiers ने केवल 21 गेंदों में South African द्वारा सबसे तेज़ T-20 पचास रन बनाए। उन्होंने 29 गेंदों में 79 रनों के साथ पारी पूरी की और T20 series में South Africa को क्लीन स्वीप करने में अपना अहम योगदान दिया। 18 जनवरी 2017 को, de Villiers ने Test matches में से अधिकांश में खुद को बाहर कर दिया और आखिरकार दिसंबर 2017 में खेला। हालांकि, Test match से एक दिन पहले, Faf du Plessis को viral infection पाया गया, जिससे उनके मैच के खेलने लिए doubt हो गया। Test की सुबह, उन्हें मैच से बाहर कर दिया गया, AB de Villiers ने उनकी जगह कप्तानी बागडोर संभाली। उन्होंने मैच के दौरान wicketkeeping भी करी, क्योंकि South Africa के wicket-keeper Quinton de Kock को पहले दिन बल्लेबाजी करते हुए एक hamstring injury का सामना करना पड़ा। उन्होंने मैच में आठ कैच लिए और Test match दो दिनों के अंदर समाप्त हुआ, South Africa ने एक पारी और 120 रन से जीत हासिल की। De Villiers 2018 में South Africa के Indian tour के लिए लौट आए। उन्होंने कहा कि उन्होंने wicket-keeping छोड़ दिया है क्योंकि उनकी पीठ अब मांग को संभालने में सक्षम नहीं है, और Faf du Plessis ने खेल के सभी forms में कप्तान के रूप में अपनी भूमिका फिर से शुरू कर दी है। Australia के खिलाफ second Test match में, उन्होंने अपनी 22 वीं टेस्ट शतक 126 रन बनाकर पहली पारी में 146 गेंदों और दूसरी पारी में 28 रन बनाये। उनके प्रदर्शन ने टीम को 6 विकेट से मैच जीतने में मदद की। 23 मई 2018 को, De Villiers ने international cricket के सभी forms से संन्यास लेने की घोषणा की। cricket duniya, ab de villiers retirement

 

International centuries

 

De Villiers ने 22 Test और 25 ODI शतक बनाए हैं।

 

Indian Premier League

 

Indian Premier League में AB de Villiers सबसे सफल बल्लेबाजों में से एक है। Fourth season में, Royal Challengers Bangalore ने 1.5 मिलियन अमेरिकी डॉलर के लिए contract किया गया था। उन्होंने पिछले seasons में Delhi Daredevils के लिए खेला। वह RCB की सफल बल्लेबाजी line-up के लिए महत्वपूर्ण रहे हैं। उन्होंने तीन IPL शतक बनाए हैं, जिनमें से दो RCB के लिए और एक Delhi Daredevils के लिए।

 

Personal life

 

De Villiers ने 5 साल के dating के बाद 2012 में ताजमहल में अपनी girlfriend Danielle Swart को शादी के लिए प्रस्ताव रखा। South Africa के Bela-Bela में मार्च 2013 में इस जोड़े ने विवाह किया था।cricket duniya, ab with his family उनके दो बेटे हैं: Abraham Benjamin (जन्म 2015) और John Richard (जन्म 2017)। वह एक ईसाई भक्त है और उनका कहना है कि उनका विश्वास जीवन के दृष्टिकोण के लिए महत्वपूर्ण है। वह एक अनुभवी guitar player और एक singer भी है। 2010 में, उन्होंने अपने दोस्त South African singer Ampie du Preez के साथ Maak Jou Drome Waar नामक एक bilingual pop album जारी किया। वह Ryan Giggs की शुरुआत के बाद club को follow करते हुए Manchester United fan भी है। De Villiers ने कहा कि उनका favorite footballer Lionel Messi है क्योंकि उसे एक fan द्वारा twitter में Cristiano Ronaldo और Lionel Messi के बीच चयन करने के लिए कहा गया था।

 

Like & Follow us:-

Facebook Page

Instagram Page

1 thought on “AB De Villiers

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *